Election

Nirvachan

Nirvachan niyamavali(360.8kb)

सहकारी समितियो में निर्वाचन

सहकारी समितियों द्वारा किये जाने वाले कार्य –

  1. प्रबन्ध कमेटी के सदस्यों के कार्यकाल समाप्त होनें की सूचना कार्यकाल की समाप्ति के 4 माह पूर्व निबन्धक को प्रेषित करना ।
  2. प्रस्तावित निर्वाचन क्षेत्रों के अवधारण हेतु समिति की सदस्यता, राजस्व क्षेत्र आदि का विवरण निबन्धक को भेजना ।
  3. 4 माह पूर्व की सदस्यता सूची ।
  4. निर्वाचन अधिकारी को प्रस्तुत की जाने वाली मतदाता सूची तैयार करना ।
  5. निर्वाचन अधिकारी के साथ आवश्यक निर्वाचन सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करना ।
  6. निर्वाचन अधिकारी के निर्देशानुसार निर्वाचन कार्यक्रम का प्रकाशन आदि सम्पादित करना ।
  7. समयान्तर्गत निर्वाचन परिणामों की सूचना निबन्धक को भेजना ।

जिला सहायक निबन्धक तथा उप निबन्धक/निबन्धक के स्तर पर किये जाने वाले कार्य-

  • निर्वाचन तिथि का निर्धारण (निबन्धक के स्तर पर )
  • नियमानुसार निर्वाचन क्षेत्रों का अवधारण एंव उनका प्रकाशन ।
  • निर्वाचन अधिकारियों की नियुक्ति करवाना ।
  • निर्वाचन सामग्री की आपूर्ति सुनिश्चित कराना ।

निर्वाचन के स्तर –

  • प्रारम्भिक समितियों में संचालक मण्ड़ल का गठन
  • संचालक मण्ड़ल के सदस्यों द्वारा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का निर्वाचन
  • अन्य संस्थाओं को भेजे जाने वाले प्रतिनिधियों का निर्वाचन
  • संचालक मंडल में 2 पद महिलाओं व एक पद अनु0जाति/जनजाति के लिये आरक्षित

केन्द्रीय समिति –

  1. प्रारम्भिक सदस्य समितियों से नामित सदस्यों द्वारा सामान्य निकाय का गठन एंव मतदाता सूची ।
  2. सामान्य निकाय के सदस्यों से संचालक मण्ड़ल का गठन
  3. संचालक मण्ड़ल के सदस्यों द्वारा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का निर्वाचन
  4. अन्य संस्थाओं को भेजे जाने वाले प्रतिनिधियों का निर्वाचन
  5. व्यक्तिगत सदस्यता वाली समितियों में

 

शीर्ष समितियां-

  • सदस्य समितियों से नामित सदस्यों द्वारा सामान्य निकाय का गठन एंव मतदाता सूची ।
  • सामान्य निकाय के सदस्यों से संचालक मण्ड़ल का गठन
  • संचालक मण्ड़ल के सदस्यों द्वारा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का निर्वाचन
  • अन्य संस्थाओं को भेजे जाने वाले प्रतिनिधियों का निर्वाचन
  • व्यक्तिगत सदस्यता वाली समितियों में